दिल्ली में एक सितम्बर से चरणबद्ध तरीके से खुलेंगे स्कूल : सिसोदिया

नयी दिल्ली, 

दिल्ली में एक सितम्बर से 9वीं से 12वीं कक्षा तक के स्कूल, कोचिंग संस्थान और कॉलेज खोले जाएंगे। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने यह जानकारी साझा करते हुए कहा कि दिल्ली और देशभर में कोरोना के मामलों में लगातार कमी आ रही है। इसे देखते हुए ये निर्णय लिया गया है कि जिस प्रकार चरणबद्ध तरीके से व्यावसायिक गतिविधियों को शुरू किया गया था उसी तरह से शैक्षणिक गतिविधियों को भी चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभिभावकों की मंजूरी के बिना बच्चों को स्कूल आने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा। स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन होगा और इसके लिए गाइडलाइन जारी किया जाएगा। पहले चरण के अनुभवों के आधार पर अन्य कक्षाओं को लेकर फैसला लिया जाएगा। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा शुक्रवार को आयोजित बैठक में यह फैसला लिया गया कि दिल्ली में चरणबद्ध तरीके से स्कूल खोले जाएंगे।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा,“कोरोना के कम होते मामलों के बीच पूरे एहतियात के साथ दिल्ली में अब धीरे-धीरे स्कूलों को खोला जा रहा है ताकि बच्चों की पढ़ाई के नुकसान को कम किया जा सके। हमें ज़िन्दगी को वापस पटरी पर भी लाना है और बच्चों की सेहत और पढ़ाई, दोनों का ध्यान भी रखना है।”


उपमुख्यमंत्री ने कहा कि स्कूलों के बंद रहने से पिछले डेढ़ साल में बच्चों की पढ़ाई का काफी नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि, ऑनलाइन पढ़ाई कभी भी ऑफलाइन पढ़ाई का विकल्प नहीं बन सकती है। एक्सपर्ट्स का भी मानना है कि जो पढ़ाई स्कूलों में हो सकती है वो घर पर नहीं हो सकती है। इसलिए आज डीडीएमए की बैठक में निर्णय लिया गया है कि एक सितम्बर से सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना संबंधी सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए दिल्ली में शैक्षणिक गतिविधियों को शुरू कर दिया जाएगा। पहले चरण में कक्षा 9 से 12 तक के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के साथ- साथ इस आयुवर्ग के सभी कोचिंग इंस्टिट्यूट को खोलने की मंजूरी दी गई है। साथ ही सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटी भी खुल जाएंगे। उन्होंने कहा कि बच्चों को स्कूलों में बुलाने से पहले उनके अभिभावकों की मंजूरी ली जाएगी। अभिभावकों की मंजूरी न मिलने पर बच्चों को स्कूल में बुलाने पर बाध्य नहीं किया जाएगा। साथ ही सभी शैक्षणिक गतिविधियां ब्लेंडेड तरीके से ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी चलती रहेंगी। जल्द ही सरकार द्वारा स्कूलों को खोलने संबंधी गाइडलाइन जारी कर दिया जायगा।


उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार के स्कूलों में पढ़ाने वाले 98 फीसदी शिक्षकों और बाकी स्टाफ को कम से कम वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। साथ ही प्राइवेट स्कूलों के भी ज्यादातर शिक्षकों और स्टाफ को वैक्सीन लग चुकी है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली सरकार द्वारा स्कूलों को दोबारा खोलने के लिए ईमेल के द्वारा पेरेंट्स से सुझाव मांगे गए थे जिनमें 70 फीसदी से अधिक अभिभावकों का मानना था कि स्कूलों को दोबारा खोला जाए। अन्य अभिभावकों ने भी स्कूलों को चरणबद्ध तरीके से खोलने के लिए सुझाव भेजे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *