गंगवार ने युवाओं के रोजगार की प्रतिबद्धता दोहराई

नयी दिल्ली, 

केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने कहा है कि सरकार महिलाओं और कमजोर वर्ग सहित देश के सभी युवाओं के लिए रोजगार में सुधार के लिए प्रतिबद्ध है। श्री गंगवार ने कहा कि सरकार शिक्षा और रोजगार के बीच सेतु को बेहतर बनाने और युवाओं को काम के भविष्य के लिए तैयार करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। कौशल विकास, रोजगार सृजन और उद्यमिता कार्यक्रमों के माध्यम से युवाओं के उत्थान के लिए कई नीतियां और योजनाएं शुरू की गई हैं। श्री गंगवार ने गुरुवार को केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्रालय और यूनिसेफ के बीच एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर के अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की।

श्रम और रोजगार मंत्रालय श्री गंगवार ने भारत में युवाओं के लिए रोजगार  परिणामों में सुधार की प्रतिबद्धता दोहराई श्रम और रोजगार ...
इस अवसर पर श्रम और रोजगार सचिव अपूर्व चंद्रा और यूनिसेफ के देश प्रतिनिधि डॉ. यास्मीन अली हक मौजूद थे। श्री गंगवार ने कहा कि भारत युवाओं का देश है। भारत में हर पांचवां व्यक्ति युवा है। उन्होंने कहा कि 2015 में शुरू की गई राष्ट्रीय करियर सेवा (एनसीएस) युवाओं के रोजगार और करियर की जरूरतों को पूरा करती है। उन्होंने कहा कि एनसीएस ने कोविड-19 के कारण श्रम बाजार में चुनौतियों को कम करने और अर्थव्यवस्था के परिणामी लॉकडाउन के लिए कई पहल की हैं। नौकरी चाहने वालों और नियोक्ताओं के बीच की खाई को पाटने के लिए ऑनलाइन नौकरी मेलों का आयोजन किया जा रहा है। केन्द्रीय मंत्री ने आशा व्यक्त की कि अगले तीन वर्षों में, यूनिसेफ और श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, दोनों भारतीय युवाओं के सहयोग और सशक्तिकरण के क्षेत्रों में बड़ी उपलब्धि हासिल करेंगे ताकि भविष्य का आत्मविश्वास से सामना किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *