दिल्ली का दिल तोड़ मुंबई छठी बार फाइनल में

दुबई,

फॉर्म में चल रहे बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव (51) और ईशान किशन (नाबाद 55) के शानदार अर्धशतकों तथा हार्दिक पांड्या की नाबाद 37 रन की तूफानी पारी के बाद जसप्रीत बुमराह और ट्रेंट बोल्ट की घातक गेंदबाजी से मुंबई इंडियंस ने दिल्ली कैपिटल्स को आईपीएल के पहले क्वालीफायर में गुरूवार को एकतरफा अंदाज में 57 रन से पीटकर छठी बार फाइनल में जगह बना ली। गत चैंपियन और चार बार की विजेता मुंबई ने 20 ओवर में पांच विकेट पर 200 रन का मजबूत स्कोर बनाया और दिल्ली को 20 ओवर में आठ विकेट पर 143 रन पर रोक दिया। मुंबई ने इस तरह छठी बार फाइनल में जगह बना ली। मुंबई ने इससे पहले 2010, 2013, 2015, 2017 और 2019 में फाइनल में जगह बनायी थी। बुमराह ने 14 रन पर चार विकेट और बोल्ट ने नौ रन पर दो विकेट झटके। बुमराह ने इसके साथ ही इस सत्र में अपने विकेटों की संख्या 27 पहुंचा दी और भुवनेश्वर कुमार का एक सत्र में सर्वाधिक 26 विकेट लेने का भारतीय रिकॉर्ड तोड़ दिया। दिल्ली के लिए इस हार के बाद पहली बार फाइनल में जगह बनाने की उम्मीद अभी समाप्त नहीं हुई है। दिल्ली आठ नवम्बर को होने वाले दूसरे क्वालीफायर में सनराइजर्स हैदराबाद और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के बीच एलिमिनेटर की विजेता टीम से भिड़ेगी और इस मुकाबले को जीतने वाली टीम 10 नवम्बर को होने वाले फाइनल में मुंबई से टक्कर लेगी। विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए दिल्ली की टीम पहले चार ओवर में पृथ्वी शॉ, अजिंक्या रहाणे, शिखर धवन और कप्तान श्रेयस अय्यर को 20 रन तक गंवाने पर ही मुकाबला हार गयी थी। मार्कस स्टॉयनिस ने 65 रन बनाकर सिर्फ दिल्ली की हार का अंतर कम किया। स्टॉयनिस का इस सत्र का यह तीसरा अर्धशतक था लेकिन वह मुंबई को नहीं रोक सके। मुंबई ने दिल्ली को लीग मैचों में दोनों बार हराया था।

दिल्ली का दिल तोड़ चेन्नई आठवीं बार फाइनल में

मुंबई की पारी में सूर्य ने 38 गेंदों पर 51 रन में छह चौके और दो छक्के लगाए। किशन ने 30 गेंदों पर नाबाद 55 रन में चार चौके और तीन छक्के लगाए जबकि हार्दिक ने मात्र 14 गेंदों पर नाबाद 37 रन में पांच छक्के उड़ाए। हार्दिक और किशन ने छठे विकेट के लिए मात्र 23 गेंदों पर 60 रन की तूफानी अविजित साझेदारी की। ओपनर क्विंटन डी कॉक ने 25 गेंदों पर 40 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया। दिल्ली ने इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया। दिल्ली को पहली सफलता जल्द ही मिल गयी जब अनुभवी ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा को पगबाधा कर दिया। रोहित का खाता नहीं खुला और मुंबई का पहला विकेट 16 रन पर गिरा। क्विंटन डी कॉक और सूर्य ने इसके बाद बेहतरीन शॉट्स खेले। दोनों ने काफी तेजी से बल्लेबाजी की और मुंबई ने छह ओवर के पॉवरप्ले में 63 रन ठोक डाले। अश्विन ने डी कॉक को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा। डी कॉक का कैच शिखर धवन ने लपका। डी कॉक ने 25 गेंदों पर 40 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया। सूर्य ने अपना अर्धशतक पूरा किया लेकिन इसके तुरंत बाद एनरिच नोर्त्जे की गेंद पर वह सीमारेखा के पास डेनियल सैम्स के हाथों लपके गए। सूर्य ने 38 गेंदों पर 51 रन में छह चौके और दो छक्के लगाए। मैदान पर उतरे कीरोन पोलार्ड को अश्विन ने कैगिसो रबादा के हाथों कैच कर दिया। पोलार्ड का खाता नहीं खुला। क्रुणाल पांड्या 10 गेंदों में एक छक्के के सहारे 13 रन बनाकर मार्कस स्टॉयनिस का शिकार बने। मुंबई का पांचवां विकेट 140 के स्कोर पर गिरा। अपने भाई के आउट होने के बाद मैदान पर उतरे हार्दिक पांड्या ने कुछ बेहतरीन छक्के लगाए जबकि दूसरे छोर पर ईशान किशन ने अपनी शानदार बल्लेबाजी जारी रखी।
IPL 2018: चेन्नै ने दिल्ली डेयरडेविल्स को हराकर दर्ज की छठी जीत - YouTube
हार्दिक ने पहले सैम्स पर छक्का मारा और फिर 19वें ओवर में रबादा की पहली दो गेंदों पर छक्के जड़ दिए। किशन ने इस ओवर में चौका लगाया। इस ओवर में 18 रन पड़े। हार्दिक ने आखिरी ओवर की तीसरी गेंद पर नोर्त्जे पर लॉन्ग ऑन के ऊपर से छक्का मार दिया। चौथी गेंद पर लांग ऑफ के ऊपर से छक्का पड़ा। किशन ने आखिरी गेंद पर छक्का मारकर अपना अर्धशतक पूरा किया और मुंबई को 200 पर पहुंचा दिया। हार्दिक और किशन ने छठे विकेट के लिए मात्र 23 गेंदों पर 60 रन की तूफानी अविजित साझेदारी की। आखिरी ओवर में 20 रन गए। मुंबई ने अंतिम तीन ओवरों में 55 रन जोड़े। दिल्ली की तरफ से अश्विन ने 29 रन पर तीन विकेट लिए जबकि नोर्त्जे ने 50 रन पर एक विकेट और स्टॉयनिस ने पांच रन पर एक विकेट लिया। सैम्स ने चार ओवर में 44, रबादा ने चार ओवर में 42 और पटेल ने तीन ओवर में 27 रन दिए। लक्ष्य का पीछा करते हुए दिल्ली ने खौफनाक शुरुआत की और उसके पहले तीनों बल्लेबाज खाता खोले बिना पवेलियन लौट गए। दिल्ली ने ट्रेंट बोल्ट के पहले ओवर में पृथ्वी शॉ और रहाणे को गंवाया। अगले ओवर में शिखर धवन को जसप्रीत बुमराह ने बोल्ड कर दिया। दिल्ली के पहले तीनों बल्लेबाजों के आगे शून्य टंग गया। रही-सही कसर अय्यर के आउट होने से पूरी हो गयी। बुमराह ने अय्यर का भी विकेट लिया। अय्यर ने आठ गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 12 रन बनाये। 15 करोड़ी खिलाड़ी ऋषभ पंत के लिए इस सत्र में खराब प्रदर्शन का सिलसिला बना रहा और वह मात्र तीन रन बनाकर क्रुणाल पांड्या का शिकार बन गए। दिल्ली का पांचवां विकेट 41 के स्कोर पर गिरा। दिल्ली की हालत बेहद नाजुक नजर आ रही थी लेकिन स्टॉयनिस ने मुंबई के गेंदबाजों के सामने मोर्चा संभाला और स्कोर बढ़ाते हुए इस सत्र में अपना तीसरा अर्धशतक पूरा किया। दूसरे छोर पर अक्षर पटेल ने उनका साथ देना जारी रखा। पटेल ने 15वें ओवर में कीरोन पोलार्ड पर लगातार दो छक्के मारकर दिल्ली के 100 रन पूरे कर डाले। मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने 16वें ओवर में गेंद बुमराह को थमाई और बुमराह ने पहली ही गेंद पर स्टॉयनिस को बोल्ड कर दिया। दिल्ली का छठा विकेट 112 के स्कोर पर गिरा। स्टॉयनिस ने 46 गेंदों पर 65 रन में चार चौके और तीन छक्के लगाए। स्टॉयनिस और पटेल ने छठे विकेट के लिए 71 रन की साझेदारी की। बुमराह ने इसी ओवर में डेनियल सैम्स को भी पवेलियन भेज दिया। सैम्स दिल्ली की पारी में शून्य पर आउट होने वाले चौथे बल्लेबाज बन गए। सैम्स का विकेट 112 के स्कोर पर ही गिरा। बुमराह ने चार ओवर में मात्र 14 रन देकर चार विकेट लिए और 2017 के सत्र में भुवनेश्वर का 26 विकेट लेने का भारतीय रिकॉर्ड तोड़ डाला। दिल्ली 143 तक ही पहुंच सकी। पटेल ने 33 गेंदों पर दो चौकों और तीन छक्कों की मदद से 42 रन बनाये। रबादा 15 रन पर नाबाद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *