अनुराग सिंह ठाकुर ने बुडापेस्ट को शतरंज ओलंपियाड मशाल सौंपी

नयी दिल्ली।  केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने बुधवार को शतरंज ओलंपियाड के 45वें संस्करण के आधिकारिक मेजबान बुडापेस्ट, हंगरी को शतरंज ओलंपियाड मशाल सौंपी। बुधवार को यहाँ मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में आयोजित समारोह में श्री ठाकुर ने एफआईडीई के अध्‍यक्ष और बुडापेस्ट को ओलंपियाड मशाल सौंपने से पहले भारतीय ग्रैंड मास्टर विश्वनाथन आनंद के साथ एफआईडीई अध्यक्ष, अरकडी ड्वोर्कोविच और हंगेरियन ग्रैंड मास्टर जुडिट पोल्गर के साथ शतरंज की एक दोस्ताना बाजी भी खेली। इस अवसर पर श्री ठाकुर ने कहा,“मुझे खुशी है कि कुछ साल पहले हमने जो फैसला किया था (शतरंज ओलंपियाड मशाल रिले का) वह वास्तव में संपन्‍न हुआ और शतरंज ओलंपियाड के लिए मशाल के हैंडऑफ की रस्‍म निभाने हेतु मैं यहां मौजूद हूं।

उन्होंने कहा,“शतरंज एक बौद्धिक विरासत है, जो संभवत: भारत ने दुनिया को प्रदान की है, और यह केवल खेल मात्र नहीं है, बल्कि रणनीतिक गहराई और दार्शनिक ज्ञान का प्रतिबिंब है। यह शानदार खेल न केवल दिमाग को तेज करता है, बल्कि धैर्य और लचीलेपन का महत्‍वपूर्ण सबक भी सिखाता है और व्यक्ति को रणनीतिक महारत की बौद्धिक तलाश के मार्ग पर ले जाता है। शतरंज ओलंपियाड का 44वां संस्करण 2022 में चेन्नई में आयोजित किया गया था। उस समय इस वैश्विक आयोजन में 2500 से अधिक खिलाड़ियों और 7000 से अधिक ने भाग लिया था। एफआईडीई शतरंज ओलंपियाड का अगला संस्करण अब इस साल हंगरी के बुडापेस्ट में होगा, जिसकी आधिकारिक घोषणा इस साल की शुरुआत में की गई थी। उल्लेखनीय है कि दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में 19 जून 2022 को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने एक समारोह में प्रथम शतरंज ओलंपियाड मशाल रिले की शुरुआत की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.