नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बड़ा गांव गेट बहार झांसी से गायब चिकित्सा अधिकारी

झांसी,

प्रदेश सरकार लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने की पुरजोर कोशिश कर रही है। मगर लापरवाह अधिकारियों के कारण सरकार की मंशा पूरी नहीं हो पा रही। झाँसी के नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बड़ा गांव गेट बहार में तैनात चिकित्सा अधिकारी के बिना एएनएम द्वारा संचालित हो रहा है स्वास्थ्य केंद्र 

  यहा आने बाले मरीजो को यहां ना तो डॉक्टर मिलते हैं और ना ही मरीजों के लिए सही चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है। अस्पताल की स्थिति देखकर अब मरीजों ने भी आना कम कर दिया। ओपीडी में मरीजों को पर्चा तक नहीं मिलता। 

लाख कोशिशों करने के बाद भी लापरवाह अधिकारी सुधरने का नाम नहीं ले रहे है

शासन के लाख कोशिशों करने के बाद भी लापरवाह अधिकारी सुधरने का नाम नहीं ले रहे है। आसपास के लोगों के लिए प्राथमिक चिकित्सा मुहैया कराने के लिए शासन ने नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोला था, लेकिन प्राथमिक केंद्र अधिकारियों की अनदेखी के कारण खुद मरीज बना हुआ है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में तैनात डाक्टर प्रज्ञा श्रीवास्तव का निवास सेन्टर से पास ही होने के करण वे अक्सर घर में रहना पसंद करती हैं, जब की किसी अधिकारी की विजीट  होती है तो उनको तुरंत सुचित कर दिया जाता हैं वो तभी वहां प्रकट होती हैं वर्ना अक्सर घर पर रहती है इतना ही नही अधिकारिक या विभागीय मिटिंग में उनकी  उपस्थिति  सत प्रतिशत रहती है मगर सेंटर में उपस्थिति कभी कभार ही होती है यहां का सारा काम काज कर्मचारी ही संभालते है।

नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण कई बार उच्चाधिकारियों ने किया

सीएमओ साहब फोन उठाते ही नहीं

बिना डाक्टर के सेन्टर खुद ही मरीज बना हुआ है। वैसे तो नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण कई बार उच्चाधिकारियों ने किया है और डाक्टर व अन्य सुविधाओं का आश्वासन भी दे गए, लेकिन कोई भी वादा उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सका। मरीजों का इलाज हो या ना हो  इससे फर्क नहीं पड़ता मगर विभागीय अधिकारियों का जोर सेंटर पर उपकरण खरीदने की ओर ज्यादा होता है और बिल बाउचर को बजट में आवश्यक शामिल होना चाईये, इस समाचार का उद्देश्य खरीददारी से मिलने वाले डिस्काउंट पर नहीं बल्कि लोगों की उचित स्वास्थ्य सेवाओं की ओर है, जिसे शासन हर संभव देना चाहती है मगर इस लोगों को शासन की सुविधाओं से वंचित रहना पड़ रहा है। पास के ही व्यक्ति सुरेन्द्र ने बताया कि  अक्सर यह केन्द्र समय से पहले बंद हो जाता है। इस संबंध में सीएमओ ने बात करनी चाही तो उनका फोन नही उठा हो सकता हो उस समय व्यस्त हो मगर बाद में फोन पुनः लगाने के बाद भी नहीं उठा तो कई लोगों ने बताया कि सीएमओ साहब फोन उठाते ही नहीं और सीएचसी प्रभारी बड़ागांव गेट बाहर से मोबाइल फोन पर बात करनी चाही तो उनके मोबाइल बंद मिले। जब आज मंगलवार को सुबह इस सेंटर पर जाकर देखा गया तो वहां उपस्थित एएनएम ने डॉक्टर द्वारा बताया गया रटाया गया जवाब देते हुए कहा कि डॉक्टर साहब अभी गई हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *