मैनचेस्टर टेस्ट स्थगित नहीं रद्द हुआ है : गांगुली

कोलकाता, 

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा है कि मैनचेस्टर टेस्ट स्थगित नहीं रद्द हुआ है, इसलिए जब भी कभी भारत और इंग्लैंड के बीच एकमात्र टेस्ट खेला जाएगा, तो वह 2021 के टेस्ट सीरीज़ में नहीं जोड़ा जाएगा। हालांकि उन्होंने रवि शास्त्री सहित भारतीय दल के कुछ सदस्यों को रवि शास्त्री के बुक-लॉन्च कार्यक्रम में जाने पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया, जिसे कि भारतीय दल में कोविड फैलने का एक संभावित कारण माना जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसी परिस्थिति के लिए किसी को ज़िम्मेदार ठहराए जाना उचित नहीं है। कोलकाता के अख़बार द टेलीग्राफ़ से बात करते हुए गांगुली ने कहा, “ओल्ड टैफ़र्ड टेस्ट रद्द हुआ है। इससे इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) को बहुत नुक़सान हुआ है और इसकी भरपाई कर पाना आसाना नहीं होगा। थोड़ा समय दिजिए, हम लोग बैठ कर आपस में निर्णय लेंगे। लेकिन अगले साल अगर एकमात्र टेस्ट होता है, तो वह इस सीरीज़ का हिस्सा नहीं बल्कि नया टेस्ट और सीरीज़ माना जाएगा।”


गांगुली इस साल के अंत में व्यक्तिगत यात्रा पर लंदन जाएंगे। हालांकि यह साफ़ नहीं है कि वह ईसीबी अधिकारियों से मुलाक़ात भी करेंगे। उन्होंने कहा, “चूंकि यह सब अभी तुरंत ख़त्म हुआ है, इसलिए हमने उन्हें समय दिया है।” शास्त्री का बुक लॉन्च कार्यक्रम ओवल टेस्ट से एक दिन पहले एक सितंबर को हुआ था और वह 5 सितंबर को कोविड पॉज़िटिव पाए गए थे। उनके अलावा गेंदबाज़ी कोच भरत अरूण और फ़ील्डिंग कोच आर. श्रीधर भी कोविड पॉज़िटिव पाए गए, जबकि कुछ दिन बाद 9 सितंबर को भारत के सहायक फ़िज़ियो योगेश परमार का भी कोविड टेस्ट पाज़िटिव आया। वहीं मुख्य फ़िज़ियो नितिन पटेल पहले से ही एहतियातन आइसोलेट थे। चूंकि चौथे टेस्ट के दौरान योगेश परमार खिलाड़ियों के काफी क़रीब थे, इसलिए माना जा रहा है कि उनके कोविड पॉज़िटिव आने के बाद कुछ खिलाड़ियों ने पांचवें और आख़िरी टेस्ट में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया।वहीं रविवार को इंग्लिश डेली ‘मिड-डे’ से बात करते हुए कोच रवि शास्त्री ने कहा कि पूरा इंग्लैंड खुला हुआ है, इसलिए बुक लॉन्च कार्यक्रम को आप कैसे दोष दे सकते हैं। वहीं गांगुली ने कहा कि इस कार्यक्रम के लिए बीसीसीआई से कोई अनुमति नहीं ली गई थी। लेकिन इसके लिए कोच या किसी और को दोष देना सही नहीं है।


गांगुली ने कहा, “आप अपने कमरे में कितने दिन तक पड़े रह सकते हैं। यह मानवीय रूप से संभव नहीं कि आप इतने लंबे दौरे पर सिर्फ़ होटल से मैदान पर जाएं और मैदान से वापस होटल में आएं।” गांगुली ने इस बात से भी इनकार कर दिया कि आईपीएल के लिए खिलाड़ियों ने पांचवां टेस्ट खेलने से इनकार कर दिया, जो कि 19 सितंबर से यूएई में फिर से शुरू होने वाला है। उन्होंने कहा, “आप हमेशा के लिए बबल में नहीं रह सकते। ये खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ़ एक साल से अधिक समय से बबल में हैं और यह मज़ाक़ नहीं है। यह शारीरिक और मानसिक रूप से भी थकाऊ है। वे आदमी ही हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *