बिपिन रावत, कल्याण सिंह, खेमका को पद्म विभूषण

नयी दिल्ली, 

देश के प्रथम चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजस्थान के पूर्व राज्यपाल दिवंगत कल्याण सिंह, गीता प्रेस गोरखपुर के अध्यक्ष दिवंगत राधेश्याम खेमका को मरणोपरांत देश के दूसरे सर्वाेच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से अलंकृत किया गया है। महाराष्ट्र से शास्त्रीय गायिका प्रभा अत्रे को भी दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजा गया है। जबकि कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य और सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग की नामचीन हस्तियों – सत्य नाडेला और सुंदर पिचाई को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर सरकार ने 128 हस्तियों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित करने की घोषणा की। इनमें चार लोगों को पद्म विभूषण, 17 लोगों को पद्म भूषण और 107 लोगों को पद्म श्री प्रदान किया जाएगा।

पद्म भूषण से अलंकृत हुए लोगों में श्री आजाद और श्री भट्टाचार्य के अलावा अभिनेता विक्टर बनर्जी (कला), गुरमीत बावा (कला), नटराजन चंद्रशेखरन (उद्योग), श्री कृष्णा इला एवं श्रीमती सुचित्रा इला (संयुक्त, उद्योग), सुश्री मधुर जाफरी (पाककला, अमेरिका), श्री देवेन्द्र झांझरिया (खेल), श्री राशिद खान (कला), श्री राजीव महर्षि (प्रशासन), सत्यनारायण नाडेला (उद्योग, अमेरिका) सुंदर राजन पिचाई (उद्योग, अमेरिका), साइरस पूनावाला (उद्योग), श्री संजय राजाराम (मरणोपरांत, विज्ञान, इंजीनियरिंग, मैक्सिको), सुश्री प्रतिभा रे (साहित्य), स्वामी सच्चिदानंद (शिक्षा एवं साहित्य) और श्री वशिष्ठ त्रिपाठी (शिक्षा एवं साहित्य) शामिल हैं।पद्म श्री से सम्मानित होने वाले लोगों में श्री प्रह्लाद लाल अग्रवाल (उद्योग), प्रो. नज़मा अख्तर (साहित्य एवं शिक्षा) श्री सुमित एंटिल (खेल), श्री टी सेंका आओ (साहित्य एवं शिक्षा), सुश्री कमलिनी अस्थाना एवं सुश्री नलिनी अस्थाना (कला), श्री सुब्बना अय्यपन (विज्ञान एवं इंजीनियरिंग), श्री जे के बजाज (शिक्षा एवं साहित्य), श्री एस बालासुब्रह्मण्यम (साहित्य एवं शिक्षा), श्रीमद बाबा बलिया (सामाजिक कार्य), सुश्री संघमित्रा बंद्योपाध्याय (विज्ञान एवं इंजीनियरिंग), सुश्री माधुरी बर्थवाल (कला), श्री अखोन असगर अली बशारत (साहित्य एवं शिक्षा), डॉ. हिम्मतराव बावस्कर (चिकित्सा), श्री हरमोहिन्दर सिंह बेदी (साहित्य एवं शिक्षा), श्री प्रमोद भगत (खेल), श्री एस बालेश भजन्त्री (कला), श्री खांडू वांगचुक भूटिया (कला), श्री मारिया क्रिस्टोफर बाइरस्की (साहित्य एवं शिक्षा), श्री आचार्य चंदन जी (सामाजिक कार्य), सुश्री सुलोचना चव्हाण (कला), श्री नीरज चोपड़ा (खेल), सुश्री शकुंतला चौधरी (सामाजिक कार्य), श्री शंकर नारायण मेनन चुंडायिल (खेल), श्री एस दामोदरन (सामाजिक कार्य), श्री फैसल अली दार (खेल), श्री जगजीत सिंह दरदी (उद्योग एवं व्यापार), श्री आदित्य प्रसाद दास (विज्ञान एवं इंजीनियरिंग), डॉ. लता देसाई (चिकित्सा)। श्री मजली भाई देसाई (सार्वजनिक जीवन), सुश्री बसंती देवी (सामाजिक कार्य), सुश्री लौरेम्बम बीनो देवी (कला), सुश्री मुक्तामणि देवी (उद्योग), सुश्री श्यामामणि देवी (कला), श्री खलील दंतेजवी (मरणोपरांत, साहित्य एवं शिक्षा), श्री सावजी भाई ढोलकिया (सामाजिक कार्य), श्री अर्जुन सिंह ध्रुवे (कला), डॉ. विजय कुमार विनायक डोंगरे (चिकित्सा), श्री चंद्रप्रकाश द्विवेदी (कला), श्री धनेश्वर इंगती (साहित्य एवं शिक्षा), श्री ओम प्रकाश गांधी (सामाजिक कार्य), श्री नरसिंह राव गरिकापति (साहित्य एवं शिक्षा), श्री गिरधारी राम घोंजू (मरणोपरांत, साहित्य एवं शिक्षा), श्री शैबाल गुप्ता (मरणोपरांत, साहित्य एवं शिक्षा), श्री नरसिंह प्रसाद गुरु (साहित्य एवं शिक्षा), श्री गोसावीडू शेख हसन (मरणोपरांत, कला) श्री र्यूको हीरा (उद्योग), सुश्री सोसम्मा जाइप (पशुपालन), श्री अवध किशोर जाडिया (कला) और सुश्री सौकार जानकी (कला)।

Leave a Reply

Your email address will not be published.