कागजों पर चल रहा समृद्बि कोलेज ऑफ फार्मेसी , एसडीएम से की जांच मांग

छिबरामऊ ।

भ्रष्ट सिस्टम का नयाब तरीका, बिना बिल्डिग़ मिल गयी मान्यता


इस क्षेत्र में समृद्बि कोलेज ऑफ फार्मेसी कॉलेज ऐसा भी है जो कागजों पर चल रहा है। उत्तर प्रदेश टेक्निकल एजुकेशन बोर्ड लखनऊ फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया से छिबरामऊ कन्नौज के नाम से मान्यता प्राप्त है कॉलेज कोड-3025 है विगत एक वर्ष पहले से संचालित ह।ै अभी ïभी इसका भवन निर्माणाधीन और फैकल्टी का कोई अता पता नहीं है। यह कालेज छिबरामऊ से लगभग 5 से 6 किलोमीटर दूर ग्राम अहिरुराजा रामपुर में स्थित हैं।

छात्रों के भविष्य से हो रहा खिलवाड़

प्रथम वर्ष फार्मेसी के छात्र पास होकर द्बितीय वर्ष में प्रवेश कर चुके है और बिल्डिग़ अभी तक तैयार नही हैं। समस्त छात्र जिन्होंने लगातार इस कॉलेज में 90 उपस्थिति दर्ज करा कर उत्तीर्ण हुये और द्वतीय वर्ष में प्रवेश लिया। इस तरह छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। इस मामले में मोहित यादव ने एसडीएम को प्रार्थना पत्र देकर मामले की जांच की मांग की है। क्षेत्र में इसे सबसे बड़ा स्कैम बताते हुए मोहित यादव ने कहा प्रदेश सरकार के बोर्ड ऑफ टेक्निकल एजुकेशन से समृद्धि कॉलेज ऑफ फार्मेसी छिबरामऊ के नाम से मान्यता दी गई है लेकिन छिबरामऊ में इस नाम का कोई कॉलेज व उसका भवन कहीं भी नहीं है। ग्राम अहिरुआ राजा रामपुर में आधा अधूरा भवन बना है। जहां पर न तो लैब है और न ही कोई फैकल्टी है। इसे अवैध रूप से अजीत यादव पुत्र रामपाल यादव निवासी अहिरुआ राजा रामपुर थाना विशुनगढ़ द्वारा संचालित किया जा रहा है। उन्होंने कहा इस मामले की शिकायत मुख्यमंत्री सहित केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री एवं फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया से भी की गई है।
एसडीएम देवेश कुमार गुप्ता ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच का आश्वासन दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *