कई देशों में बढ़ रहा कोरोना संक्रमण, सतर्कता जरूरी: योगी

कुशीनगर, 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि दुनिया के कई देशों में कोरोना संक्रमण फिर तेजी से बढ़ रहा है, इसलिये सतर्कता जरूरी है। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में देश और प्रदेश ने कोरोना पर सफल नियंत्रण पा लिया है, फिर भी दुनिया मे संक्रमण के नए दौर को लेकर हमें सतर्कता पर जरूर ध्यान रखना होगा। दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी के मंत्र का अनुसरण करने के साथ ही जिन लोगों ने अब तक वैक्सीन नहीं लगवाई है उन्हें वैक्सीन लगवाने को प्रेरित करें। सीएम योगी सोमवार को कुशीनगर जिले के पडरौना, रविंद्र नगर स्थित बुद्धा पार्क में आयोजित मंडल स्तरीय सामूहिक विवाह समारोह को संबोधित करते हुये कहा कि कोरोना के चलते कई देशों में जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया लेकिन पीएम मोदी के नेतृत्व में देश और उत्तर प्रदेश में कोरोना के सफल प्रबंधन की मिसाल पूरी दुनिया ने देखी। लॉकडाउन में उत्तर प्रदेश ऐसा पहला राज्य था जिसने गरीबों, श्रमिकों को भरण-पोषण भत्ता दिया। 54 लाख श्रमिकों को इसका लाभ मिला। सरकार ने मुफ्त में खाद्यान्न वितरण भी प्रारम्भ किया जो अनवरत जारी है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने सभी के लिए मुफ्त कोरोना जांच, इलाज और वैक्सीन की व्यवस्था की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने उपस्थित जनसमूह से कोविड वैक्सीन लगवाने के बारे में पूछा। सबके हाथ उठाने पर उन्होंने कहा कि आपके आसपास जो लोग भी बचे होंउन्हें वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करें। उन्होने बताया कि देश में 125 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है उत्तर प्रदेश में भी 16 करोड़ लोगों को एक या दो लग चुकी है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि सामूहिक विवाह योजना एक सामाजिक क्रांति, आंदोलन व अभियान है। ऐसे आयोजनों से बाल विवाह और दहेज जैसी कुप्रथाओं पर अंकुश लगता है। यही नहीं इससे “गांव की बेटी सबकी बेटी” का भाव भी जुड़ता है। यहां अपना-पराया का भाव समाप्त दिख रहा है। सबका साथ, सबका विकास,सबका विश्वास और सबका प्रयास का भाव आप ही नजर आ रहा है। सीएम योगी ने कहा कि क्या कभी किसी ने सोचा था कि श्रमिकों की कन्याओं के विवाह में मंत्री, सांसद,विधायक और स्वयं मुख्यमंत्री भी सहभागी बनेंगे ? पर, अब यह हकीकत है। उन्होंने कहा कि यही लोकतंत्र है और यही लोकतंत्र की ताकत। बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने जो संविधान दिया उसमें सभी के लिए समान अधिकार की बात है। केंद्र और प्रदेश सरकार उसी समान अधिकार के तहत योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचा रही हैं। योगी ने कहा कि श्रमिक ही राष्ट्र का निर्माता है। उसके पुरुषार्थ में राष्ट्र की नींव है। नींव जितनी मजबूत होगी,देश उतना ही मजबूत होगा। उन्होंने बताया कि सरकार श्रमिकों दो लाख रुपये सामाजिक सुरक्षा की गारंटी दे रही है। श्रमिकों को पांच लाख रुपये स्वास्थ्य बीमा का कवर दिया जा रहा है। साथ ही उनके बच्चों की शिक्षा के लिए अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त अटल आवासीय विद्यालयों की स्थापना की जा रही है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने केंद्र व प्रदेश सरकार की तमाम योजनाओं का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि 2017 के पहले तक प्रदेश में गरीबों को योजनाओं का लाभ नहीं मिलता था। 2017 के बाद हर गरीब को बिना भेदभाव शासन की सभी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है।


श्रम विभाग केउत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की तरफ से आयोजित इस समारोह में गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर व महराजगंज जिलों के कुल 2503 जोड़े विवाह के पावन बंधन में बंधे। नवयुगलों में 2243, हिन्दू, 138 मुस्लिम व 122 बौद्ध शामिल रहे। मुख्यमंत्री ने सभी नव दम्पतियों को आशीर्वाद देते हुए मुख्यमंत्री ने उनके सुखमय जीवन की कामना की। इस अवसर पर उन्होंने मंच से तीन मुस्लिम नव दम्पतियों समेत 11 युगलों को प्रमाण पत्र और पुष्पगुच्छ भेंट किया। प्रमाण पत्र देने के दौरान मुख्यमंत्री ने जोड़ों से आत्मीय संवाद भी किया। इस मौके पर श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि राष्ट्र निर्माण में खून पसीना बहाने वाले श्रमिकों की पूर्व की सरकारों ने सुध नहीं ली थी। श्रमिकों के हितों की चिंता केंद्र की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार ने की। आज श्रमिकों के लिए 18 योजनाएं चलाई जा रही हैं। बहुत पारदर्शी तरीके इनका लाभ श्रमिकों को मिल रहा है। श्री मौर्य ने श्रमिकों के कल्याण के लिए सरकार की तरफ से चलाई जा रही योजनाओं की विस्तार से जानकारी भी दी। उन्होंने कहा कि श्रमिक परिवारों के भविष्य के दृष्टिगत सीएम योगी की सोच बहुत दूरदर्शी है। श्रमिक काम के लिए आज यहां तो कल वहां होता है। ऐसेमें उनके बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो इसके लिए मुख्यमंत्री हर मंडल मुख्यालय पर अटल आवासीय विद्यालयों की स्थापना करा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *