178 दिनो से बेरोजगार अमीनाबाद के सैकड़ो पटरी दुकानदारो ने मांगी भीख

लखनऊ ।

अमीनाबाद के पटरी दुकानदारो और बड़े दुकानदारो के बीच नही सुलझा विवाद

देश मे आए कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लगाए गए लाक डाउन से पहले 22 मार्च को प्रधानमंत्री ने जनता कफर््यू का एलान किया था जनता कर्फ़्यू तो एक दिन बाद समाप्त हो गया लेकिन 22 मार्च से आज तक अमीनाबाद के करीब एक हजार पटरी दुकानदारो के लिए आज भी जनता कर्फ़्यू है क्यूकि 22 मार्च के बाद से लेकर आज 178 दिन बीत गए लेकिन गरीब परिवारो से ताल्लुक रखने वाले अमीनाबाद के पटरी दुकानदारो की दुकाने फुटपाथ पर नही सजी।

178 दिनो से गरीबी बेरोजगारी का दंश झेल रहे सैकड़ो पटरी दुकानदारो ने आज उन्ही दुकानदारो से विरोध स्वरूप भीख मांगी जो दुकानदार पटरी दुकानदारो की दुकानो का विरोध कर रहे है। मंगलवार को अमीनाबाद पटरी दुकानदार वेलफेयर सोसाईटी के अध्यक्ष मनीष चाौधरी और  दीपक सोनकर उर्फ शैलू सैकड़ो महिला पुरूष पटरी दुकानदारो के साथ सड़क पर उतरे और अपने हाथो मे कटोरा लेकर विरोध स्वरूप उन्ही दुकानदारो से भिक्षा मांगी जो दुकानदार अपनी दुकानो के आगे पटरी दुकाने लगने का विरोध कर रहे है।

178 दिनो से बेरोज़गार अमीनाबाद के सैकड़ो पटरी दुकानदारो ने मांगी भीख –  Citizen Voice

जिसके बाद पटरी दुकानदारो ने कानून मंत्री बृजेश पाठक से मुलाकात कर अपनी परेशानी बताई थी तब उनकी कोशिश से नो वेडिंग जोन के आदेश को समाप्त कर दिया गया था उनका कहना है कि कोरोना काल मे तीन महीने तक तो सभी कारोबार बन्द रहे लेकिन तीन महीने बाद धीरे धीरे देश अनलाक हुआ और अब लगभग सभी कारोबार शुरू हो गए है बावजूद इसके 178 दिन बीत जाने के बाद भी अमीनाबाद के करीब 1 हजार पटरी दुकानदारो की छोटी छोटी दुकाने नही खुलने दी गई इन पटरी दुकानो से जुड़े करीब 1 हजार परिवार अब भुखमरी की कगार तक पहुॅच गए है उन्होने कहा कि अमीनाबाद के पटरी दुकानदार अपने परिवार को भुखमरी से बचाने के लिए और अपने रोजगार को चलाने के लिए संघर्ष करते रहेगे उन्होने कहा कि हम प्रदेश के मुख्यमंत्री से निवेदन करते है कि गरीब पटरी दुकानदारो की आर्थिक स्थिति पर तरस खाते हुए दुकाने खोलने का आदेश दे ताकि उनके कारोबार शुरू हो और करीब 6 महीने से चल रहे कारोबारी संकट से उन्हे निजात मिल सके।

एसीपी के आश्वासन पर माने पटरी दुकानदार

178 दिनो से बेरोजगारी का दंश झेल रहे सैकड़ो पटरी दुकानदार जब विरोध स्वरूप भीख मांगने के लिए सड़क पर उतरे किसी तरह की अशान्ती न फैले इसके लिए अमीनाबाद पुलिस मौके पर पहुॅच गई और दुकानदारो को समझाने का प्रयास किया लेकिन भुखमरी की मार झेल रहे दुकानदार भीख मांगने पर अड़े रहे और सड़क पर चलने वाले लोगो और बड़े दुकानदारो से भीख मांगना शुरू कर दी। मौके पर पहुॅचे एसीपी कैसरबाग पंकज श्रीवास्तव ने पटरी दुकानदारो को आश्वस्त किया किया वो जल्द ही इस गम्भीर प्रकरण का निपटारा कराने के लिए प्रयास करेंगे और पुलिस आयुक्त महोदय के सामने भी इस मुददे को रख कर इसका हल तलाश करेगे। एसीपी के आश्वासन के बाद आक्रोषित दुकानदारो ने अपना प्रदर्शन समाप्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *