अब कैंसर से नहींं होगी किसी की मौत, इस दवा से ठीक होगा ये असाध्य रोग!

रायपुर । पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के रसायन विभाग की शोधार्थी ममता त्रिपाठी ने कैंसर से लड़ने के लिए एक नया फार्मूला इजात किया है। जिसमें ऐसा कम्पाउंड तैयार किया गया है जो पीड़ित के शरीर में दवा का फार्मूला लंबी अवधि तक रख कर कंपन के साथ किमोथेरेपी करेगा। इसे प्राथमिक तौर पर मेडिसिन साफ्टवेयर ग्रो मैक्स एन ए एमडी ने मानक क्षमता की स्वीकृति दे दी है।

चल रहा परीक्षण

देश की नामी मेडिसिन लैब दुर्गा फार्मासिटिकल लैब (डीएसपी) में इसे मानव शरीर के लिए परिक्षण किया जा रहा है। ममता ने बताया कि इस तरह के शोध के बाद इस साफ्टवेयर में जांच से ही शोध की गुणवत्ता तय होती है। मैंने चार वर्षों के शोध के बाद यह फार्मूला तैयार किया।

इस तरह करता है कार्य

फार्मूला इस तरह से तैयार किया गया है, कि कैंसर पीड़ित के शरीर में जाकर कंपन करे, ताकि कीमोथेरेपी में अच्छी तरह से सहायक बन सके और शरीर में कैंसर युक्त सभी जीवाणुओं को मार सके। कंपन के कारण फार्मूला शरीर में लंबे समय तक रहता है, जिससे जल्द कैंसर से निजात पाने में मदद मिल पाएगी।

शोध को लेकर भविष्य में कैंसर के प्रभावी इलाज की अपार संभावनाएं नजर आ रही हैं। अभी यह साफ्वेयर में जांचा गया है। यदि मानव शरीर पर पूर्ण रूप से कार्य कर पाया तो जानलेवा बीमारी से छुटकारे के लिए एक बड़ा कदम होगा।

– डॉ. रमा पाण्डेय, विशेषज्ञ- कैंसर ड्रग डिजाइन, सेवानिवृत्त प्रोफेसर, रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय, रायपुर