हरियाणा के सभी सरकारी स्कूलों में एक अप्रैल से योग शिक्षा

चंडीगढ़,

हरियाणा सरकार ने राज्य के सभी सरकारी स्कूली पाठ्यक्रम में एक अप्रैल, 2021 से में योग को एक अलग विषय के रूप में शामिल करने के लिए पूरी तैयारी कर ली है जिसका उद्देश्य छात्रों को कम उम्र से ही योग को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अध्यक्षता में बुधवार को यहां हुई हरियाणा योग परिषद की बैठक में यह जानकारी दी गई। योग को स्कूली पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाने वाला हरियाणा शायद देश का पहला राज्य होगा। इस बैठक में योग गुरु बाबा राम देव ने भी हिस्सा लिया। बाबा रामदेव राज्य में योग और आयुर्वेद के प्रचार के लिए हरियाणा के ब्रांड अम्बेसडर भी हैं। राज्य में नैतिक शिक्षा के अलावा छात्रों को शैक्षणिक सत्र 2016-17 से योग भी पढ़ाया जा रहा है। लेकिन, एक कदम और बढ़ाते हुए योग को स्कूली पाठ्यक्रम में अनिवार्य या वैकल्पिक विषय बनाने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने एक समिति का गठन किया है। योग विषय पाठ्यक्रम को इस तरह से डिजाइन किया जाएगा कि इसमें शारीरिक शिक्षा की तर्ज पर थ्योरेटिकल और प्रैक्टिकल दोनों विषय सामग्री सम्मिलित होगी ताकि शिक्षा के अलावा छात्रों को योग का प्रशिक्षण भी दिया जा सके।

Yoga education will start in all Haryana Govt schools from 1st April Says  CM Manohar Lal Khattar - हरियाणा के सभी सरकारी स्कूलों में 1 अप्रैल से  लगेंगी योग की क्लास, योग
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का उद्देश्य योग को जमीनी स्तर पर ले जाना और लोगों को योग को अपनी जीवन शैली का हिस्सा बनाने के लिए प्रोत्साहित करना है। इसके लिए योग और व्यायामशालाओं के अलावा ग्रामीण स्तर पर पर्याप्त बुनियादी ढाँचा उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने विकास एवं पंचायत विभाग को राज्य में 1000 अतिरिक्त योगशालाओं की स्थापना के लिए एक सप्ताह के भीतर एक प्रस्ताव तैयार करने के भी निर्देश दिए। । बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि लोगों को योग को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाने के लिए प्रोत्साहित करने हेतु हरियाणा योग परिषद के तत्वावधान में हर महीने के पहले रविवार को ‘योग प्रशिक्षण दिवस’ का आयोजन किया जाएगा। इसके तहत जिला, ब्लॉक और तहसील स्तर पर योग प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जिनमें प्रशिक्षित शारीरिक प्रशिक्षण प्रशिक्षक (पीटीआई) और शारीरिक शिक्षा में डिग्री धारक (डीपीई) लोगों को योग प्रशिक्षण प्रदान करेंगे। राज्य में 1000 आयुष योग सहायकों और 22 आयुष योग प्रशिक्षकों की भर्ती के लिए प्रक्रिया जारी है और जल्द ही पूरी हो जाएगी। राज्य में योग को लोकप्रिय बनाने के लिए अनुबंध आधार पर 1000 आयुष योग सहायकों की भर्ती करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा, राज्य भर में विभिन्न ‘योगशालाओं’ के लिए 22 आयुष योग कोचों की भर्ती की जानी है। उल्लेखनीय है कि राज्य में 250 नई योग एवं व्यायामशालाओं का निर्माण हो चुका है और ये उद्घाटन के लिए तैयार हैं। मुख्यमंत्री ने हाल ही में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में 110 योग और व्यामशालाओं का उद्घाटन किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *