हरिवंश राज्यसभा के उपसभापति निर्वाचित, विपक्षियों ने दी बधाई

नयी दिल्ली
राजग के उम्मीदवार हरिवंश को आज राज्यसभा का उपसभापति चुन लिया गया। उनके पक्ष में 125 मत पड़े जबकि विरोध में 105 सदस्यों ने मतदान किया।
श्री हरिवंश के खिलाफ ने विपक्ष ने कांग्रेस के बी के हरिप्रसाद को अपना उम्मीदवार बनाया था। विपक्ष के कुछ सदस्य मतदान के दौरान सदन में मौजूद नहीं थे। राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही सभापति एम. वेंकैया नायडु के जरुरी कागजात पटल पर रखवाने के तुरंत बाद उपसभापति के चुनाव की प्रक्रिया शुरु की। उन्होंने बताया कि उपसभापति के चुनाव के लिए नौ नोटिस मिले और संबंधित सदस्यों से अपने उम्मीदवारों के पक्ष में प्रस्ताव पेश करने को कहा।

पक्ष में 125 मत पड़े जबकि विरोध में 105

श्री हरिवंश के पक्ष में चार तथा श्री हरिप्रसाद के पक्ष में पांच प्रस्ताव पेश किये गये। सबसे पहले जनता दल यू के रामचंद्र प्रसाद सिंह ने श्री हरिवंश के पक्ष में प्रस्ताव पेश किया और रिपब्लिकन पार्टी (ए) के सदस्य एवं केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने इसका समर्थन किया। इसके बाद बहुजन समाज पार्टी के सतीश चंद्र मिश्रा ने श्री हरिप्रसाद के नाम का प्रस्ताव किया और कांग्रेस के विवेक तन्खा ने समर्थन किया। राष्ट्रीय जनता दल की मीशा भारती ने श्री हरिप्रसाद के पक्ष में प्रस्ताव रखा जिसका तेलुगू देशम पार्टी के वाई एस चौधरी ने समर्थन किया। इसके अलावा कांग्रेस के आनंद शर्मा ने, समाजवादी पार्टी रामगोपाल यादव तथा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की वंदना चव्हाण ने भी श्री हरिप्रसाद के समर्थन में प्रस्ताव पेश किया जिनका समर्थन क्रमशः कांग्रेस के भुवनेश्वर कलिता, कांग्रेस के अहमद अशफाक करीम और कांग्रेस के ही जी कुपेंद्र रेड्डी ने किया।

पक्ष विपक्ष के नेताओ ने गर्मजोशी से किया स्वागत 

श्री हरिवंश के पक्ष में भारतीय जनता पार्टी के अमित शाह, शिवसेना के संजय राउत और शिरोमणि अकाली दल के सुखदेव सिंह ढ़िंढसा ने भी प्रस्ताव पेश किये जिनका समर्थन क्रमशःभाजपा के राम विचार नेताम, जद यू की कहकशां परवीन और तथा अन्नाद्रमुक की विजिला सत्यानंत ने किया। निर्वाचन प्रक्रिया पूरी होने के बाद बैंककर्मी से पत्रकार और पत्रकार से सांसद बने श्री हरिवंश का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, सभापति एम. वेंकैया नायडू, सदन के नेता अरुण जेटली, विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद समेत सदन में सभी दलों के नेताओं ने गर्मजोशी से स्वागत किया और उन्हें एक जनपक्षधर पत्रकार, परिपक्व सांसद , शालीन एवं गरिमामय व्यक्ति तथा हिन्दी प्रेमी बताया।

हरिवंश के उपसभापति बनने से पद की गरिमा बनी रहेगी

उन्होंने कहा कि श्री हरिवंश के उपसभापति बनने से पद की गरिमा बनी रहेगी और सदन की कार्यवाही बेहतर होगी तथा बहस का स्तर बढ़ेगा। इससे पहले श्री आजाद ने श्री हरिवंश को बधाई देते हुए कहा कि श्री हरिवंश को कुछ दलों का समर्थन मिला लेकिन उपसभापति चुन लिए जाने के बाद वह कुछ दलों के नहीं सबके उपसभापति हैं। सत्ता पक्ष को उनके साथ की जरुरत कम होती है पर विपक्ष को उनके सहयोग की अधिक आवश्यकता होती है।
उपसभापति निर्वाचित होने पर योगी ने हरिवंश को दी बधाई.

हरिवंश के राज्यसभा का उपसभापति निर्वाचित होने पर योगी ने दी बधाई 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्री हरिवंश के राज्यसभा का उपसभापति निर्वाचित होने पर बधाई दी है। श्री योगी ने गुरूवार को यहां जारी बयान में कहा कि पत्रकार के रूप में श्री सिंह ने जनता के हितों से जुड़े मुद्दों को सदैव वरीयता दी। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि राज्यसभा के उपसभापति के तौर पर श्री हरिवंश जनहित को प्राथमिकता देकर संसद के उच्च सदन की गौरवशाली परम्पराओं में निश्चित तौर पर वृद्धि करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्यसभा को एक ऐसा नेता उपसभापति के तौर पर मिला, जिन्होंने अपने दायित्वों का सदैव कुशलता पूर्वक निर्वहन किया है।