मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव गिरा सरकार के पास 325 का आंकड़ा विपक्ष को 126

लोकसभा में विपक्ष की ओर से नरेंद्र मोदी नीत राजग सरकार के खिलाफ पेश अविश्वास प्रस्ताव पर गरमा-गरम बहस हुई

नर्यी दिल्ली लोकसभा में विपक्ष की ओर से नरेंद्र मोदी नीत एनडीए सरकार के खिलाफ पेश अविश्वास प्रस्ताव पर शुक्रवार को चर्चा के बाद वोटिंग शुरू हो गई , इस दौरान कई असंतुष्ट सदस्य वाकआउट कर गए

अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 126 जबकि विरोध में 325 वोट पड़े।

कुल 425 वोट पड़े लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने वोटिंग के बाद ऐलान किया कि बीजेपी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव गिर गया है इससे पहले पूरे दिन प्रस्ताव पर चर्चा चली।

सदस्यों को चर्चा के लिए 7 घंटे का समय मिला था प्रश्नकाल के साथ.साथ गैर.सरकारी कामकाज नहीं हुआ

टीडीपी आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम के प्रावधानों को पूर्ण रूप से लागू करने और आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा प्रदान करने की मांग को लेकर राजग गठबंधन से अलग हो गई थी
लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने एस केसीनेनी तारिक अनवर मल्लिकार्जुन खडगे समेत कुछ अन्य सदस्यों के अविश्वास प्रस्ताव के नोटिस को स्वीकार किया है ।
अध्यक्ष ने उन सदस्यों से खड़े होने का आग्रह किया जो अविश्वास प्रस्ताव के नोटिस के पक्ष में हैं
प्रस्ताव के दौरान अनुपस्थित रहने का फैसला करने के लिए शिवसेना की आलोचना की चव्हाण ने कहा कि शिवसेना को एक साथ सत्ता का स्वाद और सरकार के खिलाफ बोलने का ढोंग बंद करना चाहिए
पीएम मोदी बोले.जब नंबर नहीं था तो क्यों लाए अविश्वास प्रस्ताव

उन्होंने कहा कि हमको तो अपनी बात कहने का मौका मिल रहा है पर देश को यह भी देखने को मिला है कि कैसी नकारात्मक राजनीति ने कुछ लोगों को घेर रखा है कैसे विकास के प्रति विरोध का भाव है