भागीदार होने का आरोप इल्जाम नहीं इनाम-प्रधानमंत्री

लखनऊ, संवाददाता
प्रधानमंत्री आवास योजना के तीन साल पूरे होने पर लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जहां अपनी विकास योजनाएं गिनाईं, वहीं विपक्ष पर जमकर शब्दबाण भी चलाए। पीएम मोदी ने खासकर बिना नाम लिए राहुल गांधी पर निशाना साधा। पीएम ने कहा कि मुझपर आरोप लगाए गए कि मैं चौकीदार नहीं भागीदार हूं। यह आरोप मेरे लिए इनाम हैं क्योंकि मैं इस देश के विकास में भागीदार हूं। पीएम ने अपने संबोधन में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को भी याद किया।

योजनाओं की प्रगति को दर्शाने वाली प्रदर्शनियों का भी अवलोकन किया

पीएम मोदी ने शनिवार को आवास योजना के लाभार्थियों से मुलाकात के साथ-साथ तमाम योजनाओं की प्रगति को दर्शाने वाली प्रदर्शनियों का भी अवलोकन किया। उन्होंने तीन साल में विभिन्न योजनाओं के माध्यम से शहरी विकास के लिए हुए कामों को गिनाया। मोदी ने आवास योजना को लेकर पूर्व की यूपीए सरकार पर भी निशाना साधा। मोदी ने बंगले का जिक्र लगे हाथ अखिलेश पर भी तंज कसा।

पहले की सरकारकाम नहीं करना चाहते थे

पीएम ने कहा, इस योजना को आगे बढ़ाने के लिए मैं योगी जी को धन्यवाद देना चाहता हूं। इससे पहले की सरकार को हम बार-बार चिट्टी लिखते थे, आग्रह करते थे लेकिन वे लोग काम नहीं करना चाहते थे। उन्हें सिर्फ अपने बंगले को सजाना संवारना था। उससे फुर्सत ही नहीं थी उन्हें।

मैं चौकीदार नहीं भागीदार हूं

पीएम मोदी ने संसद के मॉनसून सत्र में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा उनपर किए गए हमले का एक बार फिर जवाब दिया। उन्होंने राहुल का नाम लिए बिना कहा, इन दिनों मुझपर आऱोप लगा कि मैं चौकीदार नहीं भागीदार हूं। मैं इसे इल्जाम नहीं इनाम मानता हूं। मुझे गर्व है कि मैं मेहनतकश मजदूर, दुखियारी मां का भागीदार हूं। मैं सियाचीन के जवानों और किसानों का भी भागीदार हूं। आपको बता दें कि राफेल डील में करप्शन का आरोप लगाकर राहुल गांधी ने लोकसभा में कहा था कि पीएम मोदी चौकीदार नहीं, भागीदार हैं।

बेटी पढ़ाओ बेटी बढ़ाओ के संबंध में बच्चियों से की बात 

पीएम मोदी ने बेटी पढ़ाओ बेटी बढ़ाओ के संबंध में बच्चियों से भी बात की। पीएम ने यहां पर शहरी विकास, स्वच्छता मिशन और प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत एग्जिबिशन भी को देखा। इसके अलावा गुजरात के सीवेज रीसाइकल प्लांट की प्रदर्शनी, गूगल मैप द्वारा स्थित टॉइलट की लोकेशन की प्रॉसेस, स्मार्ट सिटी परियोजना की प्रदर्शनी, दिव्यांगों के लिए शुरू की गई योजना, महिला सुरक्षा और सोलर एनर्जी की प्रदर्शनियों को भी पीएम ने देखा।

अटल जी ने विकास का जो बीड़ा उठाया, हमने उसे आगे ले जाने का काम किया

पीएम मोदी ने भाषण की शुरुआत में खुद को उत्तर प्रदेश से सांसद बताते हुए कहा कि मैं यहीं का प्रतिनिधि हूं। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए मोदी ने कहा, अटल जी ने विकास का जो बीड़ा उठाया, हमने उसे आगे ले जाने का काम किया। अटल जी ने लखनऊ को देश के शहरी जीवन सुधार की प्रयोगशाला बनाया। आप आज जो देख रहे हैं, लखनऊ में और इसके आस-पास वह सब अटल जी ने सांसद के रूप में जो विजन दिया, उसका परिणाम है। मेट्रो लाने का काम अटल जी ने किया। अटल जी कहते थे कि बिना पुराने को संवारे नया भी नहीं संवरेगा, यह बात उन्होंने पुराने और नए लखनऊ के लिए कही थी।

जिनको घर मिला है उन्हें बधाई

विभिन्न योजनाओं के तहत शहरों के प्रतिनिधियों को सम्मानित के बाद पीएम ने कहा, यहां आए लोग वे प्रतिनिधि हैं, जो नई सदी और नए भारत के सपने को साकार करने का काम कर रहे हैं। जिन शहरों को पुरस्कार मिले हैं, वहां के हर नागरिक को और जिनको घर मिला है उन्हें बधाई। जिन शहरों को पुरस्कार नहीं मिला है, वे कृपया मुझे मौका दें कि मैं उनको सम्मानित किया।

सम्मानित हुए लोगों में सिर्फ दो पुरुष हैं, बाकी सारी महिला मेयर हैं

पीएम मोदी ने महिलाओं के योगदान को बताते हुए कहा कि सम्मानित हुए लोगों में सिर्फ दो पुरुष हैं, बाकी सारी महिला मेयर हैं, जिनको पुरस्कार मिला। उन्होंने आगे कहा, तीन साल में हमने अमृत योजना, स्मार्ट सिटी और अन्य योजनाओं के तहत काम किया। स्मार्ट सिटी योजना के तहत सात हजार करोड़ से ज्यादा का काम पूरा हुआ और 52 हजार करोड़ से ज्यादा की योजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है।

हमारी प्रतिबद्धता है कि इसी पीढ़ी के लिए भविष्य की व्यवस्थाओं का निर्माण हो

पीएम मोदी ने विकास के लिए मुख्य बिंदुओं को गिनाते हुए कहा, हमारी प्रतिबद्धता है कि इसी पीढ़ी के लिए भविष्य की व्यवस्थाओं का निर्माण हो, जहां जीवन पांच-ई पर आधारित हो। पहला- ईज ऑफ डुइंह बिजनस, दूसरा- एजुकेशन, तीसरा, एम्प्लॉयमेंट, चौथा-इकॉनमी और एंटरटेनमेंट।
इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ राजनाथ सिंह, राज्यपाल राम नाईक, सीएम योगी, दोनों डेप्युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा, केंद्रीय शहरी विकास राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी, केंद्रीय सचिव दुर्गाशंकर मिश्र, यूपी के नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना और मुख्य सचिव भी मौजूद रहे। प्रदर्शनी में लगाए गए मॉडल के जरिए पिछली 3 साल में केंद्र सरकार द्वारा किए गए शहरी विकास को प्रदर्शित करने की कोशिश की जा रही है।