अविश्वास प्रस्ताव पर चारों खाने चित हुई कांग्रेसः सीएम

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि अविश्वास प्रस्ताव लाकर कांग्रेस स्वयं अपने ही जाल में फंस चारों खाने चित हुई है। कांग्रेस का किसी भी मुद्दे पर कोई स्टेंड ही नहीं था। वास्तव में अविश्वास प्रस्ताव के माध्यम से कांग्रेस का नकारात्मक चेहरा ही सामने आया है।

यह बात मुख्यमंत्री ने सोमवार को हाथरस प्रस्थान से पूर्व एटा की पुलिस लाइन स्थित प्रांगण में मीडिया को संबोधित करते हुए कही। मीडिया द्वारा देवरिया में बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों पर इस्लामिया आदर्श प्राथमिक विद्यालय लिखाए जाने का प्रश्न उठाए जाने पर मुख्यमंत्री का कहना था कि किसी की भी इस प्रकार की शरारत को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

प्राथमिक विद्यालय बेसिक शिक्षा विभाग के हैं, उन्हीं के रहेंगे, किसी जाति, या मजहब के रूप में नहीं। उनकी पहचान नष्ट नहीं होने दी जाएगी। मामले की एसआईटी से जांच कराई जा रही है। इसी प्रकार शिक्षकों की फर्जी नियुक्ति के मामले में उनका कहना था कि सरकार ने एटा सहित 60 जिलों की जांच एसआईटी को सोंपी है। पिछली सरकारों में जो भी फर्जी नियुक्तियां हुई हैं, उन सबकी जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी। इससे पूर्व प्रेस को दिए अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने 15 घंटे के जनपद प्रवास के अनुभव साझा करते हुए कहा कि एटा आकर उन्हें महसूस हुआ कि 1882 में बना यह जिला अब तक व्यापक उपेक्षा का शिकार रहा है। यहां विकास की छटपटाहट है।

मुख्यमंत्री ने सोमवार को एक बार फिर एटा में बनने वाले मेडीकल कालेज का जिक्र करते हुए कहा कि केन्द्र के सहयोग से एटा को पहला राजकीय मेडीकल कालेज मिलने जा रहा है।